Gussa Shayari | गुस्सा शायरी इन हिंदी

गुस्सा शायरी इन हिंदी || Gussa Shayari In Hindi

गुस्सा नाराजगी या शत्रुता की तीव्र भावना है। यह अक्सर किसी को या किसी चीज़ को चोट पहुँचाने की तीव्र इच्छा के साथ होता है। क्रोध आंतरिक और बाह्य दोनों कारणों से हो सकता है। आंतरिक कारकों में तनाव, चिंता और निराशा जैसी चीजें शामिल हैं। बाहरी कारकों में ऐसी चीजें शामिल हो सकती हैं जैसे कोई व्यक्ति आपको ट्रैफ़िक में काट रहा है या किसी प्रियजन को चोट पहुंचाई जा रही है।
इन से जुडी कुछ शायरी आपके लिए लाये है। आशा करते है की आपको पसंद आएंगे।
धन्यवाद !

हर चेहरे पर उदासी है गम है या फिर गुस्सा है शहर मैं ये कौनसी खैरात बंट रही है इन दिनो
तुझे गुस्सा दिलाना भी एक साजिश है… तेरा रुठ कर मुझ पर यूँ हक जताना प्यार सा लगता है!!
तुम्हारा तो गुस्सा भी इतना प्यारा है की, दिल करता है दिन भर तुम्हे तंग करता रहूँ ।।
ग़ुस्सा भी है तहज़ीब-ए-तअल्लुक़ का तलबगार हम चुप हैं भरे बैठे हैं गुस्सा न करेंगे
जिन्हें गुस्सा आता है वो लोग सच्चे होते हैं मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है
जब तक तेरा इतराना और गुस्सा करना बाकी है, अपने आप को अहले इल्म में शुमार न कर..
उसका गुस्सा और मेरा प्यार एक जैसा है, क्यूंकि ना तो उसका गुस्सा कम होता है और ना मेरा प्यार !!
तुम कभी कभी गुस्सा कर लिया करो.. मुझसे मेरे सनम यकीन हो जाता है कि…अपना तो समझते हो
उसकी ये मासूम अदा मुझको बेहद भाती है, वो मुझसे नाराज़ हो तो गुस्सा सबको दिखाती है
गुस्सा न करो इतना कि वो शिकायत बन्न जाये, रहो न दूर इतना के हम अकेले हो जाये, दुनिया का एक रिवाज हमे भी पता है, प्यार न करो किसीसे इतना की वो जरुरत बन जाये…
ज़िन्दगी की राहों में आपको कभी न छोड़ूंगा, ये मासूम सा दिल आपका कभी न तोड़ूंगा, चाहे हो जाओ कितना भी गुस्सा हमसे, फिर भी आपसे कभी मुंह न मरूंगा…
नाराज क्यूँ होते हो किस बात पे हो रूठे, अच्छा चलो ये माना तुम सच्चे हम ही झूठे, कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते, गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मरते…
नाराज मत हुआ करो कुछ अच्छा नहीं लगता है, तेरे हसीन चेहरे पर यह गुस्सा नहीं सजता है, हो जाती है कभी कभी गलती माफ कर दिया करो, चाहने वालों से बेदर्दी यह नुस्खा नहीं जचता है…
देखा है आज मुझे भी गुस्से की नज़र से,
मालूम नहीं आज वो किस-किस से लड़े है।
उनको आता है प्यार पर गुस्सा 
हमको गुस्से पर प्यार आता है
कोरा कागज़ पूछ रहा
क्यों रुक गया कलम..
कहता गुस्से में मत लिखना
तेरी जान का दिल है नरम..
गुस्से में बोला गया एक भी शब्द 
इतना जहरीला होता है कि 
प्यार से बोले हज़ार शब्दों 
को नष्ट कर देता है.
अगर गुस्से को सही दिशा दी जाय, तो वो ताकत बन जाती है।
आग लगाना मेरी फितरत में नही है,
मेरी सादगी से लोग जलें तो मेरा क्या कसूर।
गुस्सा इतना है कि तुमसे कभी बात भी ना करूँ,
फिर भी दिल में तेरी फिक्र खुद से ज्यादा है।
मैं मुस्कुरा कर अपने किस्मत पे सारा गुस्सा उतार देता हूँ
तुम को आता है प्यार पर ग़ुस्सा मुझ को ग़ुस्से पे प्यार आता है
सबसे ज्यादा गुस्सा खुद पर तब आता हैं जब प्यार भी हम करें, इंतज़ार भी हम करें, जताये भी हम और रोयें भी हम !!
हमारा रूठना-मनाना तो लगा रहता है ,
हमारी आंखों में प्यार,
उनके चेहरे पर गुस्सा तो सदा रहता है।
बेवजह किसी पर गुस्सा ना करना ऐ दोस्त, सुना है अक्सर रिश्ते बिखर जाया करते हैं…!!

Gussa Shayari || गुस्सा शायरी

Homepage
Damdar shayari
Rishte dhoka shayari
True love shayari
Jimmedari shayari
New aashu shayari
Alone sad shayari
Garibi shayari
Gulzar Shayari
Ishq shayari
Mehnat shayari
Dhoka shayari
Propose shayari
Akelapan Shayari
Gam bhari shayari
Padhai Shayari
Emotional shayari on life
Dard Nafrat shayari
Cricket shayari
Dardbhari shayari
Shayari for teachers
Hindi suvichar shayari
English suvichar shayari
Quotes by Elon Musk
Quotes by Dr Apj abdul kalam
Quotes by Elon Musk in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.