[NEW] Aanshu Shayari in Hindi – Ashq Bhari Shayari Hindi

इन आंसुओं की कीमत कहां 
कोई समझ पाया है,
हमने तो रो रो कर भी बस 
जमाने को हंसाया है,
आमने तो रो रो कर भी बस 
जमाने को हंसाया है
आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है,
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है…
वफ़ा के शीश महल में सजा लिया मैनें ,
वो एक दिल जिसे पत्थर बना लिया मैनें,
ये सोच कर कि न हो ताक में ख़ुशी कोई ,
ग़मों कि ओट में ख़ुद को छुपा लिया मैनें,
कभी न ख़त्म किया मैं ने रोशनी का मुहाज़ ,
अगर चिराग़ बुझा, दिल जला लिया मैनें,
कमाल ये है कि जो दुश्मन पे चलाना था ,
वो तीर अपने कलेजे पे खा लिया मैनें |
हमारे बिन अधूरे तुम रहोगे,
कभी चाहा था किसी ने,तुम ये खुद कहोगे,
न होगे हम तो किसी ने ,तुम ये खुद कहोगे,
मिलेगे बहुत से लेकिन कोई हम सा पागल ना होगा.
सपनो को चूर होते देखा !
अरे लोग कहते हे फ़िज़ूल कभी रोते नही ,
हमने फूलोँ को भी तन्हाइयोँ मे रोते देखा!
वफ़ा के शीश महल में सजा लिया मैनें ,
वो एक दिल जिसे पत्थर बना लिया मैनें,
ये सोच कर कि न हो ताक में ख़ुशी कोई ,
ग़मों कि ओट में ख़ुद को छुपा लिया मैनें,
कभी न ख़त्म किया मैं ने रोशनी का मुहाज़ ,
अगर चिराग़ बुझा, दिल जला लिया मैनें,
कमाल ये है कि जो दुश्मन पे चलाना था ,
वो तीर अपने कलेजे पे खा लिया मैनें |
सोचा था तड़पायेंगे हम उन्हें,
किसी और का नाम लेके जलायेगें उन्हें,
फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा,
तो फिर भला किस तरह सताए हम उन्हें।
ज़िन्दगी 👈में बार _बार सहारा नहीं😰 मिलता,
👉बार- बार कोई _प्यार😋 से प्यारा❤ नहीं _मिलता,
हे जो पास👈उसे संभाल💑 के_ रखना,
खो 🔍कर वो कभी दुबारा ✖नहीं _मिलता.
सोचता हूँ तो छलक उठती हैं मेरी आँखें
तेरे बारे में न सोचूँ तो अकेला हो जाऊँ।
वैसे तो एक आँसू ही बहा के मुझे ले जाए,
ऐसे कोई तूफ़ान हिला भी नहीं सकता।
जो आंसू न होते आँखों में,
तो ऑंखें इतनी खूबसूरत न होती,
जो दर्द न होता इस दिल में,
तो ख़ुशी की कीमत पता न होती,
जो बेवफाई न की होती वक़्त ने हमसे,
तो जुदाई में जीने की आदत न होती।
Jo Aansu Na Hote Ankhon Mein,
To Ankhen Itni Khobsurat Na Hoti,
Jo Dard Na Hota Dil Mein,
To Khushi Ki Kimat Pata Na Hoti,
Jo Bewfayee Na Ki Hoti Waqt Ne Humse,
To Judai Main Jine Ki Aadat Na Hoti.
होंठो की जुबान यह आँसू कहते है,
जो चुप रहते है फिर भी बहते है,
और इन आँसू की किस्मत तो देखिये,
यह उनके लिए बहते है जो इन आँखों में रहते है।
Hontho Ki Juban Yeh Aansu Kehte Hai,
Jo Chup Rehte Hai Phir Bhi Behte Hai,
Aur In Aansu Ki Kismat To Dekhiye,
Yeh Unke Liye Behte Hai Jo In Aankho Mein Rehte Hai.
काँटों की सेज पर चलने की हमें अब आदत हो गई है,
न रोये कोई हमे देख कर, हमें अब आँसू बहाने की आदत हो गई है।
Kanton Ki Sej Par Chalne Ki Hamein Ab Aadat Ho Gai Hai,
Na Roye Koi Hamein Dekh Kar , Hume Ab Aansu Bahane Ki Aadat Ho Gai Hai.
डूब जाते हैं उम्मीदों के सफ़ीने इस में,
मैं नहीं मानती आँसू ज़रा सा पानी है।
लफ्ज़ बड़े ही सदे हैं पर बहुत ही प्यारे हैं,
तुम किसी और के हो गए और हम आज तक तुम्हारे हैं।
Lafz Bade Hi Sade Hain Par Bahut Hi Pyare Hain ,
Tum Kisi Aur Ke Ho Gaye Aur Hum Aaj Tak Tumhare Hain.
मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं,
फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं,
और कितने आंसू बहाऊँ मैं उसके लिए,
जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा नहीं।
जब कोई मजबूरी में जुदा होता है,
वोह ज़रूरी नहीं के बेवफा होता है,
आपकी आँखों में दे कर वह आँसू,
आपसे भी ज़्यादा अकेले में रोता है।
भर आयी मेरी आँखे जब उसका नाम आया,
इश्क नाकाम सही फिर भी बहुत काम आया,
हमने मोहब्बत में ऐसी भी गुजारी कई रातें,
जब तक आँसू न बहे दिल को आराम न आया।
अगर आंसू दिखते पहाड़ों के तो उन्हें कोई तोड़ता ही नहीं,
अगर परख होती तुम्हे सच्चे प्यार की तुम हमारा दिल तोड़ते ही नहीं।
हमारे आंखो ने कभी आंसू ना देखे थे ,
और तुम आये हमारी जिंदगी में आंसुओं की बरसात हो गई।
एक दिन करोगे याद प्यार के ज़माने को,
जब हम चले जाएँगे ना वापिस आने को,
जब महफ़िल मे चलेगा ज़िक्र हमारा तो,
तन्हाई ढूँढोगे तुम भी आँसू बहाने को।
तुम मुझे हँसी-हँसी में खो तो दोगे,
पर याद रखना फिर आंसुओं में ढ़ूंढ़ोगे।
अपने ही हाथों से जला दिया अपना घर,
कहना उससे और एक काम तेरा कर दिया।
दिले नादान को समझाए कैसे मोहब्बत में ये तो होना ही था,
तूने दिल लगाया अमीरों से आंखो को तो गीला होना ही था।
चलता फिरता बेजान जिस्म है मेरा,
ना जाने तेरे याद में इन आंखो से आंसू कहां से निकाल जाते हैं।
कुछ अंदाज़ मोहब्बत के भी होते हैं,
जागती आँखों के भी कुछ ख्वाब होते हैं,
गम में ही आँसू निकलें जरुरी नहीं,
सैलाब मुस्कुराती आँखों में भी होते हैं।
अस्के लहू मेरी आंखो से नहीं दिल से बहती है,
क्योंकि हमने तुम्हे अपनी आंखो में नहीं दिल में बसाया था।
इन आंखो की दुनिया भी अजीब है आंखो ही आंखो में प्यार कर बैठते हैं,
आंसू निकलते हैं आंखो से पर दर्द इस मासूम दिल को दे जाते हैं।
Kyun Aaj Uska Zikar Mujhe Khush Na Kar Saka,
Kyun Aaj Uska Naam Mera Dil Dukha Gaya,
Kyun Aaj Wo Umeed Ki Shama Na Jala Saka, 
Kyun Aaj Wo Sare Diye Bujha Gaya...
na тaѕvιr нaι тυмнarι jo dιdar ĸιya jaye,
na тυм paaѕ нo jo pyar ĸιya jaye,
ye ĸon ѕa dard dιya нaι тυмne,
na ĸυcнн ĸaнa jaye na тυм вιn raнa jaye.

Damdar shayari
Rishte dhoka shayari
True love shayari
Jimmedari shayari
New aashu shayari
Alone sad shayari
Garibi shayari
Gulzar Shayari
Ishq shayari
Mehnat shayari
Dhoka shayari
Propose shayari
Akelapan Shayari
Gam bhari shayari
Padhai Shayari
Emotional shayari on life
Gussa shayari
Dard Nafrat shayari
Cricket shayari
Dardbhari shayari
Shayari for teachers
Hindi suvichar shayari
English suvichar shayari
Quotes by Elon Musk
Quotes by Dr Apj abdul kalam
Quotes by Elon Musk in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.